Home>>Law of attraction>>Power of Visualization in Hindi
Law of attractionMeditate

Power of Visualization in Hindi

यदि आप अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने की उम्मीद करते हैं । यदि आप अपनी क्षमता तक पहुँचने की उम्मीद रखते हैं। यदि आप अपने सपने सच होने की उम्मीद करते हैं।तो मैं आज आपको जो समझाने जा रहा हूँ वह आपको ऐसा बनने में भरपूर मदद करेगा। लेकिन बस एक शर्त हैं, के पोस्ट को अपको आखिर तक पड़ना हैं।

और यह बिल्कुल free हैं।तब ही आप जान पाओगे के आप कैसे उन लोगों के तरह बन सकते हो, जो विज़ुअलाइज़ेशन में मास्टर हैं।अपने आकर्षण का सिद्धांत के बारे में सुना होगा, आप visualisation के बारे में भी जानते होंगे।यह तक के आप Manifesting शब्द से भी अंजान नही होंगे। लेकिन मेल रॉबिंस इसे संकेत देखना कहते हैं।जी है Mel Robbins जो हमेशा विज्ञान और अनुसंधान से जुड़े बात करती हैं।

अब आते हैं हम मुख्य विषय पर, जो की हैं विज़ुअलाइज़ेशन। विज़ुअलाइज़ेशन एक असाधारण शक्तिशाली कौशल है। Mel Robbins का कहना हैं के हमारे मस्तिष्क में एक प्रणाली है, जिसे Reticular Acitavting System कहा जाता हैं जो न्यूरॉन्स का नेटवर्क होता हैं।जिसमे एक फिल्टर प्रणाली होता है जो अनुमति देता है आपके मस्तिष्क में कुछ जानकारी इकट्ठा करने में और अन्य जानकारी को अवरुद्ध करने में।

उस फ़िल्टर को कोन प्रोग्राम करता हैं? आप औरआपके अतीत के वो लोग जिनके बातें आपके मस्तिष्क में कही ना कही हावी हो जाती हैं। और आप आसानी से उसे भुला नहीं पाते हैं।यदि आप लगातार ऐसा महसूस करते हैं कि आपको लोग पसंद नही करते, तो आपका मस्तिष्क का वो Reticular Acitavting System उस अनुभव का पक्ष में सबूत इक्कठा करना शुरू कर देता है। और वैसे अनुभव को सक्रियण प्रणाली के माध्यम से आपके माइंड में हावी कर देता हैं।

आप जैसे इसमें विचार डालते हैं, यह सिस्टम उषे फिल्टर करके आपके माइंड में स्टोर कर देता हैं, और फिर आप उसे सच समझना शुरू कर देते हैं।यही कारण है कि आपका दिमाग उन चीजों को पढ़ना या देखना पसंद करता है जिससे आप सहमत हैं।

क्युकी अपका Reticular Activating System उस इंफॉर्मेशन को कन्फर्म करता हैं। यह सिस्टम आपके दिमाग को सुरक्षा प्रदान करता है।यदि आपका मस्तिष्क ने हर चीज को समान मूल्य पर लिया तो आपका सिर सचमुच फट जाएगा।

आपके कंधे आपका दिमाग पिघल जाएगा।यह हमलोग समझ गए इस वैज्ञानिक बख्या से के हमारे ब्रेन में जानकारी, विचार या थॉट कैसे काम करता हैं।अब हमलोग जानेंगे के किस तरह इसे विज़ुअलाइज़ेशन के लिए उपयोग करें।सब से पहले आप अपने लक्ष्यों को सही तरीके से लिखे के आप जीवन में क्या पाना चाहते हैं।

आप अभी मेरे साथ एक विज़ुअलाइज़ेशन व्यायाम करें और यह आपको विज्ञान के आधार पर करना होगा।ठीक है, There is two simple steps यदि आपका लक्ष्य अपने आत्म-मूल्य में सुधार करना है। तो अपने आंखें बंद करे और यह देखना शुरू करे कि आपका जीवन कैसा दिखता है?और आप कैसा महसूस कर रहे हैं?

अपने आप को जब आपका आत्म-मूल्य में सुधार होता हुआ है देखे तो यह visualize करेंआप खुद को success होता हुए देखेंव्यवसाय में आपको कामयाबी मिल रहे हैंआप बुरे रिश्तों को छोड़कर जा रहे हैंअपने आप को सीमाओं को परिभाषित करते हुए देखेंखुद को जिम जाते हुए देखेंआप खुद का ख्याल रखते हुए देखेंअपने आप को और जब आप कल्पना करना शुरू करें।

जब अप उन भावनाओं के बारे में सोचें तो उसके साथ साथ अपको यह भी feel करना होगा किअपको कैसा लग रहा हैं अपने आत्म-मूल्य में सुधार होता हुआ देख कर।इस तरह से आप अपने मस्तिष्क को प्रशिक्षित कर रहे हैं। एक पूरी तरह से अलग फ़िल्टर करने के लिए। आप अपना दिमाग के Reticular Activating System को रिप्रोग्राम कर रहे होते हैं।

बस्ताब मैं हमारा दिमाग किसी चीज के बीच का अंतर नहीं जानता। जिन चीजों की आप कल्पना करते हैं वे होना शुरू हो जाता हैं।दुनिया में आज जो कुछ भी देख रहें है, चाहे वो आसमान में उड़ने वाला रॉकेट या पानी में चलने वाला cruse या आपके हाथ में रहने वाला सेल फोन सब कुछ कल्पना का संतान ही हैं।यानी दुनिया में जो भी चीज़ अस्तित्व में आया हैं उसका पहला स्त्रोत कल्पना ही हैं।

कल्पना शक्ति भ्रामण्ड की महान शक्ति में से एक हैं।अपने कल्पना शक्ति को धीरे धीरे मजबूत बनाए। रोज़ 30 सेकंड आने वाले 30 दिनों के लिए निकाले। आप अपने सपने साकार करने के लिए इतना तो कर ही सकते है। हा की नई?और जो आप जीवन में पाना चाहते है, हासिल करना चाहते हैं उसका कल्पना करना शुरू करें और साथ ही उसे हासिल करके कैसे अनुभव अपको होने वाला हैं वो भी महसूस करें।

आप जो चाहे वो पा सकते हैं, वो बन सकते हैं। सब कुछ आप पर निर्भर है।

Copy link
Powered by Social Snap